विक्रम बत्रा के इंतज़ार में आज भी जैसे-तैसे जी रही हैं मंगेतर डिंपल चीमा, जानिए इनकी प्रेम कहानी

5632

परमवीर चक्र कैप्टन विक्रम बत्रा के जीवन पर बनी “शेरशाह” लगातार चर्चाओं में है. फिल्म को पिछले महीने स्वतंत्रता दिवस से पहले अमेजन प्राइम वीडियो पर स्ट्रीम किया गया था. पाकिस्तान के साथ कारगिल की जंग पर बनी देशभक्ति और शहादत की सच्ची कहानी पर आधारित शेरशाह लोगों को खूब पसंद भी आई. बता दें की फिल्म में सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा अडवानी मुख्य भूमिका निभाते हुए नज़र आ रहे है जहां सिद्धार्थ मल्होत्रा कैप्टन विक्रम बत्रा के किरदार में नजर आए हैं वही कियारा ने उनकी मंगेतर डिंपल चीमा की भूमिका निभाई है.

इस मूवी ने बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा दी थी. यह फिल्म दर्शकों को काफी पसंद आई है. इस मूवी में कैप्टन बत्रा के परिवार, जांबाजी और प्रेम कहानी को बखूबी दिखाया गया है. खबरों की माने तो इस मूवी में कैप्टन बत्रा के परिवार वालों को भी स्क्रीनिंग किया गया है. लेकिन क्या आप रियल लाइफ डिंपल चीमा और कैप्टन बत्रा को जानते हैं अगर नहीं तो यह हम आज आपको उनसे मिलवाते है.

1997 के दौरान 13वीं बटालियन जम्मू कश्मीर राइफलस में बतौर लेफ्टिनेंट चुना गया था. फिल्म शेरशाह की तरह ही कैप्टन विक्रम और डिंपल की मुलाकात कॉलेज के दिनों में हुई थी. दोनों चंडीगढ़ में पंजाब यूनिवर्सिटी में पढ़ते थे. दोनों क्लासमेट थे. दोनों में पहले दोस्ती हुई फिर प्यार हो गया. हर प्रेम कहानी की तरह पहले डिंपल के घरवालों को उनका रिश्ता मंजूर नहीं था. इसके बाद भी दोनों ने एक साथ रहने का वादा किया. डिंपल अपने प्यार के लिए परिवार से अड़ी रहीं.फिर दोनों के परिवार वाले शादी के लिए मान गए इसलिए जल्द ही दोनों कि सगाई भी कर दी गई थी.

कारगिल युद्ध के दौरान विक्रम बत्रा शहीद हो गए तो दोनों के परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूट गया और डिंपल चीमा को उनकी शहादत को गहरा सदमा पहुंचा. डिंपल कैप्टन बत्रा से बहुत ज्यादा प्यार करती थी. कारगिल जाने से पहले कैप्टन बत्रा ने डिंपल के साथ सात फेरे ले लिए थे हालांकि इस बारे में उनके परिवार वालों को कुछ नहीं पता.

ऐसे में जब कैप्टन विक्रम बत्रा की शहादत की खबर सामने आई तो परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया. डिंपल चीमा को इस बात का भी गहरा सदमा पहुंचा कि कैप्टन के परिवार वालों ने उसे कई बार दूसरी शादी करने पर जोर दिया. डिंपल ने उन्हें कुछ ऐसे जवाब दिए जो उनके प्यार को केवल एक लाइन में बयां करते थे.

उन्होंने कहा कि वह कभी दूसरी शादी नहीं करेंगे क्योंकि उनको लगता है विक्रम आज भी कहीं न कहीं उनके साथ है और वह विक्रम से जल्दी मिलेंगी बस वक्त का इंतजार कर रही हैं विक्रम के पिता जीएल ने बताया की कारगिल युद्ध में विक्रम के शहीद होने के बाद हमने उसे शादी कर लेने के लिए कई बार कहा लेकिन उसने शादी नहीं की.सहारे ही काट लेगी.” उन्होंने कहा कि डिंपल रिश्तों की अहमियत जानती है.आपको बता दें कि डिंपल चीमा स्कूल में टीचर हैं.