पाँव में आई मोच के दर्द से हैं परेशान? तो जान लें कच्ची रोटी का ये असरदार नुस्खा

185

मोच कई बार दर्दनाक और असहनीय हो जाता है. इससे निजात पाने के लिए खासा मेहनत और देखभाल भी करनी पड़ जाती है. कई बार खेलते समय या अचानक ही हाथ-पैर मुड़ जाते हैं. ऐसे में मोच की परेशानी हो जाती है. इसके कारण शरीर में असहनीय दर्द होने के साथ सूजन की समस्या होने लगती है. दरअसल मोच आने का कारण मांसपेशियों में अचानक खींचाव होना होता है. यह शरीर पर बाहरी व आंतरिक दोनों तरीकों से असर डालती है. ऐसे में दर्द के साथ हाथ-पैरों की ठीक से हलचल नहीं हो पाती है, जिसके कारण चलते-फिरने व काम करने में परेशानी होती है. वैसे तो इससे आराम पाने के लिए क्रीम, स्प्रे आदि का इस्तेमाल किया जा सकता है. मगर आज हम आपको मोच के दर्द से छुटकारा पाने के लिए 1 देसी नुस्खा बताते हैं.

दर्द से राहत दिलाएगा ये आसान नुस्खा

सुनने में शायद आपको अट पटा लग रहा होगा. मगर कच्ची रोटी से मोच वाली जगह पर पट्टी बांधने से आराम मिलता है. इसे आप ज्यादा मेहनत किए तैयार कर सकते हैं. इससे आपको दर्द से आराम मिलने के साथ मोच ठीक होने में मदद मिलेगी.

ऐसे करें इस्तेमाल

इसके लिए आटे की एक लोइ बेलकर उसे एक साइड से हल्का-सा पका लें. फिर रोटी की कच्ची ओर से चुटकीभर हल्दी पाउडर, नमक और जरूरत अनुसार सरसों का तेल लगाएं. उसके बाद इसे मोच वाली जगह पर रखकर ऊपर से कॉटन के कपड़े या गर्म पट्टी से इसे कवर कर लें.

3-4 दिन में मिलेगा आराम

हालांकि इस प्रक्रिया को लगातार 3-4 दिनों तक दोहराएं तभी यह नुस्खा काम करेगा. पट्टी से प्रभावती जगह पर गर्माहट मिलने से दर्द कम होने के साथ मोच ठीक होने में मदद मिलेगी.

गेहूं आटे के फायदे

बता दे कि गेंहू के आटे मेें पौटैशियम, आयरन, फास्फोरस, कैल्शियम, बी-कॉम्पलेक्स, मैग्निशियम, एंटी-इंफ्लेमेटरी आदि गुण होते हैं. ऐसे में इससे शरीर को गर्मी मिलने के साथ दर्द व सूजन की समस्या कम होने में मदद मिलती है.

नमक और सरसों के तेल का मेल

दरअसल नमक और सरसों का तेल में पोषक व एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं. ऐसे में इसे इस्तेमाल करने से मोच का असहनीय दर्द, सूजन की परेशानी दूर होकर जल्दी ठीक होने में मदद मिलेगी.

हल्दी है रामबाण

बता दे कि एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-सेप्टिक गुणों से भरपूर हल्दी दर्द व सूजन को कम करता है. हल्दी हड्डियों में मजबूती लाएगी और जल्दी रिकवरी होगी.

इस बात का रखें खास ख्याल

इसे बांधने से पहले इस बात का खास ध्यान रखें कि रोटी अधिक गर्म ना हो. इसे उतना ही गर्म रखें जितना आप सहन कर पाएं. ध्यान की आप जहा पट्टी कर रहे हो वह कोई खरोच या जला ना हो, ऐसा हुआ तो नमक से जलन और बढ़ जाएगी. गौर दे कि अगर इस नुस्खे से आराम ना आए तो बिना देर किए डॉक्टर से संपर्क करें और इलाज़ का सहारा ज़रूर ले.