गौतम गंभीर को ये क्या हुआ जो साड़ी पहन और माथे पर बिंदी लगाए घुमने लगे? जाने इसकी वजह

448

गौतम गंभीर भारतीय क्रिकेट टीम का एक जाना पहचाना नाम हैं. ये वही खिलाड़ी है जिसने भारत को साल 2011 में वर्ल्ड कप जिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. इसके कोई शक नहीं कि गौतम गंभीर एक बेहतरीन क्रिकेट खिलाड़ी हैं. वे आए दिन खेल में अपने प्रदर्शन की वजह से मीडिया की सुर्ख़ियों का हिस्सा बनते रहते हैं. लेकिन हाल ही में वे अपने खेल के आलावा किसी और वजह से सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं.

दरअसल इन दिनों गौतम गंभीर की एक तस्वीर इन्टरनेट पर खूब वायरल हो रही हैं. इस तस्वीर में काले रंग की साड़ी पहने और माथे पर बड़ी सी बिंदी लगाए नज़र आ रहे हैं. ऐसे में इस तस्वीर को देख आपके मन में भी ये सवाल जरूर उठ रहा होगा कि आखिर गौतम ने ये महिलाओं वाला भेष क्यों बनाया हुआ हैं? तो चलिए हम आपकी ये दुविधा भी दूर किए देते हैं.

बात असल में ये हैं कि गौतम गंभीर ने ये महिलाओं वाला भेष ट्रांसजेंडर समूह को सपोर्ट करने के लिए धारण किया हुआ हैं. गौतम आए दिन समाज में चल रहे मुद्दों को उठाते रहते हैं और उन पर अपनी राय भी देते हैं. ऐसे में इस बार वो ट्रांसजेंडर समूह को समाज में मान सम्मान दिलाने के लिए प्रयास कर रहे हैं.

नई दिल्ली में हाल ही में ‘हिजड़ा हब्बा’ समारोह का 7वा दिवस मनाया गया था. ऐसे में इस कार्यक्रम में गौतम गंभीर भी पहुँच गए. हालाँकि इस बार उनका लुक थोड़ा हट के था. ट्रांसजेंडर समूह को सपोर्ट करने के लिए उन्होंने अपनी वेश भूषा भी वैसे ही बनाई हुई थी. गौतम गंभीर इस मौके पर काली साड़ी और माथे पर बिंदी लगाए हुए दिखाई दिए. यह कार्यक्रम दिल्ली के एक माल में HIV/AIDS Alliance India के द्वारा आयोजित किया गया था. इस समारोह का मकसद सभी ट्रांसजेंडर में एकता और भाईचारा बढ़ाना एवं समाज में उन्हें उचित मान सम्मान दिलाना था. इस समारोह के माध्यम से समाज में ट्रांसजेंडर को लेकर लोगो की सोच बदलने की कोशिश की जा रही थी. यहाँ उनके अन्य हुनर को भी बताया गया साथ ही ये बात भी बतलाई गई कि किस तरह ये ट्रांसजेंडर भी समाज और देश की सेवा अपने अंदाज़ में कर सकते हैं. इस साल इस समारोह की थीम का नाम ‘बोर्न दिस वे’ रखा गया था.

गौरतलब हैं कि 6 सितंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने सेक्शन 377 हटा दिया हैं. पहले इस सेक्शन के तरह एक ही जेंडर के दो लोगो का आपस में प्यार करना गैरकानूनी माना जाता था और उन्हें इसकी सजा भी दी जाती थी. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस सेक्शन को अब पूरी तरह से ख़त्म कर दिया हैं. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से इस समूह के लोग काफी खुश हैं.

हालाँकि सिर्फ कानून बदल देने से लोगो की मेंटेलिटी नहीं बदली जा सकती हैं. यही वजह हैं कि इस तरह के इवेंट कर समाज में लोगो की सोच का दायरा बड़ा करने की कोशिश की जा रही हैं. ऐसे में इस बार इस कोशिश में गौतम गंभीर खुद आगे आए हैं. एक बड़ी सेलिब्रिटी का खुलेआम ट्रांसजेंडर को सपोर्ट करने के लिए उन्ही की तरह कपड़े पहनना बहुत बड़ी बात हैं. गौतम के ऐसा करने से कई लोग उनकी तारीफ कर रहे हैं.