टॉयलेट में गिरा मोबाइल, निकालने के लिए शख्स ने डाला हाथ, फायर फ्रिगेड से लेकर पुलिस तक हर किसी को पड़ा आना

6797

आज के जमाने में जिसे देखो वो अपने स्मार्टफोन में घुसा रहता हैं. आलम ये हैं कि कोई भी इसे एक पल के लिए भी नहीं छोड़ता हैं. लोग जहाँ जाते हैं अपने मोबाइल को साथ ले जाते हैं. हद तो तब हो जाती हैं जब कुछ लोग इसे टॉयलेट जाते समय भी अपने साथ ले जाते हैं और वहां बैठे बैठे इसका इस्तेमाल करते हैं. कई लोगो में ये हेबिट होती हैं. वो जब फ्रेश हो रहे होते हैं तो उस दौरान मोबाइल चलाते रहते हैं. यदि आपको भी इस तरह की आदत हैं तो संभल जाइए कही आपकी ये आदत आपको महँगी ना पड़ जाए.

दरअसल हाल ही में मुंबई में एक युवक को टॉयलेट के अंदर स्मार्टफोन का इस्तेमाल करना महंगा पड़ गया. ये युवक जब इंडियन स्टाइल वाली टॉयलेट में मोबाइल इस्तेमाल कर रहा था तो वो गलती से गुड्डे में गिर गया. ऐसे में उस मोबाइल को निकालते समय युवक का हाथ भी टॉयलेट के गुड्डे में फंस गया. हालत इतने खराब हो गए कि फायर ब्रिगेड को बुलाना पड़ गया. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

हाल ही में रोहित राजभर नाम का एक लड़का अपने अंकल लालमणि त्रिमूरत वर्मा (60) के घर कुर्ला आया हुआ था. 19 वर्षीय रोहित इंटरमीडिएट पास हैं और मूल रूप से उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ का रहने वाला हैं. यहाँ कुर्ला में वो विनोबा भावे नगर के गौरी शंकर सीएचएस में रहने वाले अपने अंकल के घर आया हुआ था. यहाँ वो करीब सुबह 8 बजे अपने अंकल के चौथी मंजिल में बने फ्लेट में इंडियन स्टाइल वाली टॉयलेट में फ्रेश हो रहा था. इस दौरान उसका मोबाइल हाथ से छुट कमोड में जा गिरा.

रोहित ने जब मोबाइल बाहर निकालने के लिए कमोड में हाथ डाला तो उसका हाथ वहीँ फंस गया. दरअसल रोहित ने हाथ में कड़ा पहन रखा था इसलिए ये कड़ा हाथ सहित टॉयलेट के कमोड में ही फंस गया. रोहित ने हाथ को कमोड से बाहर निकालने की कई कोशिशे की लेकिन वो नाकामयाब रहा. अंत में उसने दुसरे हाथ से टॉयलेट का दरवाजा खोला और घर वालो को मदद के लिए बुलाया. घर वालो के साथ साथ पड़ोसी भी आवाजें सुन आ गए. सब ने रोहित का हाथ कमोड से निकालने की कोशिश की लेकिन कोई सफल ना हो सका.

अंत में आनन फानन में फायर ब्रिगेड वालो को कॉल किया गया. ऐसे में कुछ देर में आपातकालीन दस्ता वहां पहुंच गया. इधर फायर ब्रिगेड की गाड़ी देख पुलिस वाले भी आ गए. हालाँकि जब तो वो लोग पहुंचे फायर ब्रिगेड वालो ने रोहित का हाथ किसी तरह कमोड से निकाल लिया था. लेकिन इस रेस्क्यू के दौरान हाथ निकालने की कोशिश में रोहित का 14 हजार का मोबाइल गटर में ही रह गया. उसे बाहर नहीं निकला जा सका.

इस रेस्क्यू के बाद रोहित को हाथ में तेज़ दर्द भी हो रहा था जिसकी वजह से उसे हॉस्पिटल ले जाया गया. यहाँ डॉक्टर ने उसके हाथ का एक्स-रे किया लेकिन कोई फ्रेक्चर नहीं निकला तो पेनकिलर देकर कुछ देर बाद डिस्चार्ज कर दिया.

हमें उम्मीद हैं कि इस खबर को पढ़ने के बाद आप भी अपना फ़ोन टॉयलेट में इस्तेमाल नहीं करेंगे.